दम ले ले घड़ी भर, ये छइयां पाएगा कहाँ, कोई भी तेरी राह ने देखे, मुसाफिर… जाएगा कहाँ

By / June 1, 2014 / Philosophy in Films

वहां कौन है तेरा – Wahan Kaun Hai Tera (S.D.Burman)

 
Movie/Album : गाईड (1965)
Music By : एस.डी.बर्मन
Lyrics By : शैलेन्द्र
Performed By : एस.डी.बर्मनवहां कौन है तेरा
मुसाफिर जाएगा कहाँ
दम ले ले घड़ी भर
ये छइयां पाएगा कहाँबीत गए दिन
प्यार के पल-छीन
सपना बनी ये रातें
भूल गए वो
तू भी भुला दे
प्यार की वो मुलाकातें
सब दूर आंधेरा
मुसाफिर…

कोई भी तेरी
राह ने देखे
नैन बिछाए न कोई
दर्द से तेरे
कोई ना तड़पा
आँख किसी की ना रोई
कहे किसको तू मेरा
मुसाफिर…

कहते हैं ज्ञानी
दुनिया है पानी
पानी पे लिखी लिखाई
है सबकी देखी
है सबकी जानी
हाथ किसी के ना आनी
कुछ तेरा ना मेरा
मुसाफिर…

About Author

Brijesh

Leave a Reply

Back to Top
%d bloggers like this: