ढूँढ रहे हो तुम जिस को .. उस को बाहर मत ढूँढो …मन के अन्दर ढूँढो …प्रीतम प्यारा मिल जायेगा…

    तुम बेसहरा हो तो किसी का सहारा बनो तुम को अपने आप ही सहारा मिल जायेगा कश्ती कोई डूबती पहुँचा दो किनारे पे तुम को अपने आप ही किनारा मिल जायेगा तुम बेसहारा हो तो … हँस कर ज़िन्दा रहना पड़ता है अपना दुःख खुद सहना पड़ता है रस्ता चाहे कितना लम्बा हो… [read more]

किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार … किसी के वासते हो तेरे दिल में प्यार … जीना इसी का नाम है

  किसी की मुस्कुराहटों – Kisi Ki Muskurahaton (Mukesh) Movie/Album : अनाड़ी (1959) Music By : शंकर जयकिशन Lyrics By : शैलेन्द्र Performed By : मुकेश किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार किसी के वासते हो तेरे दिल में प्यार जीना इसी का नाम है माना अपनी… [read more]

जीवन कहीं भी ठहरता नहीं हैं आँधी से, तूफां से डरता नहीं हैं

  नदियाँ चले चले रे धारा – Nadiya Chale Chale Re Dhara (Manna Dey, Safar) Movie/Album: सफ़र (1970) Music By: कल्याणजी-आनंदजी Lyrics By: इन्दीवर Performed By: मन्ना डे नदिया चले, चले रे धारा चंदा चले, चले रे तारा तुझको चलना होगा तुझको चलना होगा जीवन कहीं भी ठहरता नहीं हैं आँधी से, तूफां से डरता… [read more]

अपने लिए जिए तो क्या जिए … तू जी ऐ दिल ज़माने के लिए …

  Singer                                         Music By Lyricist Movie / Album Manna Dey Usha Khanna Javed Anwar Badal (1966)

Insaan ke shahar mein insaan khoj le tiu

ओ रात को मुसाफिर – इंसान के शहर में इंसान खोज ले तू

O Raat Ke Musafir /  ओ रात को मुसाफिर Movie: Gulaal (2009) Music Director: Piyush Mishra Director: Anurag Kashyap Lyrics: Piyush Mishra Starring: Deepak Dobriyal, Kay Kay Menon, Aditya Srivastav, Piyush Mishra… Song Title: Raat Ke Musafir Raat Ke Musafir Lyrics Hoo raat ke musafir tu bhaagna sambhal ke, Potli mein teri ho aag naa sambhal ke,… [read more]

दूर अज्ञान के हो अँधेरे, तू हमें ज्ञान की रोशनी दे

By / December 7, 2014 / Philosophy in Films

इतनी शक्ती हमे देना दाता, मन का विश्वास कमजोर हो ना हम चले नेक रस्ते पे हम से, भूलकर भी कोई भूल हो ना दूर अज्ञान के हो अँधेरे, तू हमें ज्ञान की रोशनी दे हर बुराई से बचते रहे हम, जितनी भी दे भली ज़िन्दगी दे बैर हो ना किसी का किसी से, भावना… [read more]

पानी के प्यासे को तकदीर ने जैसे जी भर के अमृत पिलाया

By / August 6, 2014 / Philosophy in Films

जैसे सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को मिल जाये तरुवर की छाया ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला हैं मैं जब से शरण तेरी आया, मेरे राम भटका हुआ मेरा मन था कोई, मिल ना रहा था सहारा लहरों से लड़ती हुई नाव को जैसे मिल ना रहा हो किनारा उस लड़खड़ाती… [read more]

हर दुख में कोई सुख है

Aage Sukh Peeche Dukh Hai  Aage Sukh To Peeche Dukh Hai  Eeshwar  Music Director :  Laxmikant-Pyarelal  Music Company : Singer(s) : Nitin Mukesh , Kavita Krishnamurthy  Lyricists : Anjaan

ज़िंदगी है एक जुआ

  ज़िंदगी एक जुआ (Zindagi Ek Jua)

Back to Top